• Primary ka master | uptet news

    Tuesday, October 16, 2018

    UPTET : तीसरी बार फिर टकराईं तीन बड़ी परीक्षाएं

    यूपी टीईटी 2018, यूपीएचईएससी की असिस्टेंट प्रोफेसर व अधीनस्थ आयोग की वीडीओ परीक्षा एक ही दिन
    तीसरी बार फिर टकराईं तीन बड़ी परीक्षाएं
    राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : उप्र शिक्षक पात्रता परीक्षा यानि यूपीटीईटी 2018 के इम्तिहान की तारीख फिर टकरा गई है। इस बार उप्र उच्चतर शिक्षा सेवा चयन आयोग की असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती की लिखित परीक्षा व अधीनस्थ सेवा आयोग की वीडीओ भर्ती और यूपी टीईटी की तारीख 18 नवंबर ही है। ये हालात लगातार तीसरी बार बने हैं। अब इन तीन परीक्षाओं में से एक की तारीख बदलना होगा, क्योंकि तीनों में अभ्यर्थियों की तादाद काफी अधिक है।
    यूपी टीईटी 2018 की तारीख टकराने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। शासनादेश में टीईटी कराने की तारीख 28 अक्टूबर तय हुई थी, उसी दिन उप्र लोकसेवा आयोग की पीसीएस 2018 की प्रारंभिक परीक्षा की तारीख तय थी। लोकसेवा आयोग 28 अक्टूबर की तारीख चार अगस्त को ही घोषित कर चुका था। टीईटी की तारीख दोबारा बदलकर चार नवंबर को की गई। यह तारीख घोषित करने के पहले भी परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय ने अपनी ही अन्य परीक्षा की चिंता नहीं की, क्योंकि चार नवंबर को ही राष्ट्रीय प्रतिभा खोज की परीक्षा का कार्यक्रम पहले से घोषित था। यह इम्तिहान प्रदेश के मंडल मुख्यालयों पर होना है और उसमें करीब 60 हजार अभ्यर्थी प्रतिभाग करेंगे।
    परीक्षा नियामक कार्यालय ने राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा को आधार बनाकर टीईटी की तारीख बढ़ाने का प्रस्ताव शासन को भेजा था। अब 18 नवंबर को टीईटी कराना तय हुआ है लेकिन, इसी दिन उप्र उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग यानि यूपीएचईएससी की असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती की लिखित परीक्षा व अधीनस्थ आयोग की वीडीओ भर्ती होनी है।
    उच्चतर आयोग विज्ञापन 47 के तहत अशासकीय महाविद्यालयों में 1150 असिस्टेंट प्रोफेसरों के चयन के लिए आवेदन ले चुका है। इसमें करीब 48 हजार से अधिक दावेदार हैं। 25 सितंबर को ही उच्चतर आयोग ने तारीख का एलान किया है। लगातार तीसरी बार टीईटी की तारीख अहम परीक्षा से टकरा गई है। अभ्यर्थियों की मानें तो तीनों परीक्षाओं में दावेदार बहुत अधिक हैं।
    भर्ती कैलेंडर पर ध्यान नहीं देने पर बढ़ रही समस्याएं
    शिक्षा महकमे के साथ ही अन्य संस्थानों में इन दिनों तेजी से भर्तियां हो रही हैं। संबंधित परीक्षा संस्थान लिखित परीक्षा, साक्षात्कार व अन्य कार्यक्रम भी जारी कर रहे हैं। पहले भर्ती संस्थान एक-दूसरे की परीक्षाओं का संज्ञान लेकर नई तारीखों का एलान करते रहे हैं लेकिन, इस बीच दूसरे का परीक्षा कैलेंडर देखे न जाने से परीक्षाएं टकरा रही हैं। इसमें अफसर व अभ्यर्थियों दोनों को परेशान होना पड़ रहा है।

    Primary Ka Master

    Basic Shiksha News

    UPTET