69000 SHIKSHAK BHARTI COURT UPDATE : आज की सुनवाई का सार : बीएड टीम द्वारा 21-02-2019

69000 भर्ती कट ऑफ मुद्दा लखनऊ####
साथियों नमस्कार---आज अपने केस की सुरुआत बीटीसी अधिवक्ता अनिल तिवारी जी ने अपने सबमिशन से की जिसमे उन्होंने कहा कि जब sm को सरकार 25 का भारांक दे रही है जोकि इनके 63 नम्बरों के बराबर है तो कैसे कह सकते हैं कि इनके साथ सरकार नाइंसाफी कर रही है और 60-65%तो फाउंडेशन को मजबूत करने के लिए सबके लिए समान है।।आज अनिल तिवारी जी ने कई स्टेट के आर्डर को जज साहब को दिखाया और समझाया और अपना सबमिशन पूरा किया।।जज साहब काफी सहमत दिखे उसके बाद वादी पक्ष के एल पी मिश्रा जी ने अपनी बहस शुरू की जिसमे की बीच मे जज साहब ने पूछा कि 60-65तो सबके लिए है तो आपको क्या समस्या है इतना कहते ही मिश्रा जी कोई संतोषजनक उत्तर नही दे पाए और कल के बिहार pcs के मैटर को लेकर बताने लगे।।इसमें प्री mains इंटरव्यू तीनो हैं जबकि यह केवल दो स्टेज का एग्जाम है।।यह ऑर्डर जज साहब ने रख लिया है।।आज 4:30तक सुनवाई हुई और जज साहब 15मिनट और दे रहे थे उसके बाद एल पी मिश्रा से रिटेन मांग रहे थे लेकिन सहमत नही हुए तो जज साहब ने यह कहते हुए कल 3 बजे आखरी डेट लगा दिया।।जज साहब ने यह भी कहा कि रोज मैं आखिरी कहता हूँ लेकिन हो नही पाता है लेकिन कल आखरी तारीख है इस केस की खो तो मैं आर्डर में लिखवा दू।। वादी पक्ष के दोनों मिश्रा ने कल की डेट ली हैऔर यह भी आखरी में कहा है कि अवैध 300000 बीएड को देख लीजिए बार बार इस पर ही वादी पक्ष के अधिवक्ता जोर दे रहे हैं।।असलियत में इनको दिक्कत कट ऑफ से नही है इनको दिक्कतें बीएड से है।।कल 15 मिनट एल पी मिश्रा के लिए 5मिनट उपेन्द्र मिश्रा के लिए बाकी में चन्द्रा सर् बोलेंगे।।दोस्तों डेट लगने से परेशान न हों ये सब न्यायिक प्रक्रिया है हमलोगों के वश में नहीं है।।
आज की पोस्ट में केवल इतना ही चाहूँगा की
सत्य परेशान हो सकता ,है परंतु पराजित नहीं।।
अखिलेश कुमार शुक्ला
बीएड मोर्चा लखनऊ