• Primary ka master | uptet news

    Sunday, February 24, 2019

    UPTET 69000 SHIKSHAK BHARTI : 60 65 समर्थक ने दिया रिज़वान सर के ऑडियो पर दिया करारा जवाब


    प्रिय मित्र रिज़वान,
    आप का ऑडियो सुना।
    आप ने सही कहा कोर्ट की भागदौड़ के बीच आप सोशलमीडिया पर कम सक्रिय थे और आप के विपक्षी मने हम सब खलिहर की तरह दिन रात यहीं खूटा गाड़े रहते थे।अत्यधिक व्यस्तता के कारण आप हमारे सवालों के जवाब नहीं दे पाते थे ,अब करारा जवाब देने के लिए हाजिर होंगे अच्छा लगा सुन के।
    एग्जाम हाल छोड़ आप हर जगह करारा जवाब देते फिरते हैं ।बस मौके पर चूक जाते हैं क्यो गुरु।
    कोई चाणक्य फायरब्रांड जुझारू ट्यूटर की शरण मे गए होते तो बेड़ा पिछली बार पार हो जाता।
    कटऑफ भी कम था लिखित परीक्षा भी थी जो आप के लिए यूँ ही हवा थी।
    जानते हैं ,खलिहर हम सब नहीं हैं जब आप फेसबुक-फेसबुक खेल रहे थे परीक्षा टलवाने के जुगाड़ में थे तो हम रातजग्गा किया करते थे। कभी scert तो अभी ncert की किताबो में माथा खपाते थे। तो कभी सीरीज से अपनी टोह लेते थे कितने पानी मे हैं।आप क्या जाने गर्लफ्रैंड बॉयफ्रेंड फोन पे प्यार मुहब्बत नहीं उन दिनों करेण्ट अफेयर्स पे चर्चा किया करते थे।
    हम अर्थशास्त्र के लेखक का नाम चाणक्य रटे थे और आप विधि चाणक्य जपते थे।हम समझ रहे थे समस्यात्मक बालक की विशेषता और आप को भर्ती से समस्या थी।समावेशी शिक्षा के दौर में आप को विशेष कवच चाहिए था।आप नाप-जोख के अंतिम बाल पे भी बाउंड्री मारते हैं हम सब हुमुच के मारते हैं चाहे छक्का हो चौका हो चाहे क्यों न आउट ही होना पड़े।
    योगी जी किसी को कान में गुरुमंत्र नहीं फुके थे बीटा साठ पैंसठ। गोला तो 150 में एको सादा नहीं छोड़ा किसी ने। बाकी सही गलत मालिक जाने।
    गर्भ में भ्रूण की जांच कानूनन अपराध है क्या बात कही गुरु पर मुझे डर है आप किसी दिन अजेय योद्धाओं, विधि चाणक्य, फायरब्रांड और जुझारू कमांडोज को लेकर एक मुकदमा कर देंगे उस सर्वशक्तिमान सत्ता के विरुद्ध की पिछली बार लड़का पैदा हुआ था इस बार लड़की कैसे। चालीस पैतालिस तो फिर साठ पैंसठ कैसे?
    ख़ैर आप को विधि का विशेष ज्ञान होगा क्योंकि आप का उठना बैठना ही वहीं हैं पर मेरी साधारण समझ यही कहती है .....
    साधु ऐसा चाहिए जैसा सूप स्वभाव,
    सार सार को गहि रहे थोथा देय उड़ाय।
    बाकी जज साहब जाने...
    ये दिन भी गुजर जाएंगे।
    social media post

    Primary Ka Master

    Basic Shiksha News

    UPTET