LT GRADE RESULT : एक भर्ती के कई परिणाम से वरिष्ठता पर पड़ेगा असर

एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा एक ही दिन हुई थी लेकिन, इसके परिणाम विषय वार अलग-अलग निकलने हैं। इससे जिन विषयों के परिणाम अंत में निकलेंगे उनके चयनित अपने बैच मेट से जूनियर होने का खामियाजा भुगतेंगे। यूपीपीएससी ने 10768 रिक्तियों पर चयन के लिए परीक्षा कराई थी और सात माह बाद केवल 27 पदों का ही परिणाम जारी हो सका है। यही रफ्तार रहने की स्थिति में नए शैक्षिक सत्र में सभी को नियुक्ति मिल पाना काफी मुश्किल होगा।

उप्र लोक सेवा आयोग यानी यूपीपीएससी ने 29 जुलाई को एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती की परीक्षा कराई थी। इसमें महिला शाखा में 14 व पुरुष शाखा में 15 विषयों में शिक्षकों का चयन होना है। सबसे बड़ा विषय सामाजिक विज्ञान है जिसमें सीटों और अभ्यर्थियों की संख्या भी अधिक है। यूपीपीएससी ने 16 मार्च को दो विषयों का परिणाम भी निकाला तो केवल पुरुष शाखा में संगीत और कृषि विषय के 27 पदों के परिणाम आ सके। अभी संगीत विषय में महिला शाखा में 60 पदों के परिणाम जारी नहीं हुए हैं। इनके अलावा अन्य 12 विषयों के परिणाम भी लंबित हैं जिनके शीघ्र जारी होने यूपीपीएससी दावा कर रहा है।

सत्यापन एक साथ होने से बनेगी बात : यूपीपीएससी की लेटलतीफी के बाद भी अभ्यर्थियों को वरिष्ठता समान रहने के लिए उम्मीद की एक किरण दिख रही है। अभ्यर्थियों का कहना है कि यूपीपीएससी सभी विषयों का परिणाम जारी होने के बाद अभिलेखों का सत्यापन एक साथ कराए तो नियुक्ति भी एक साथ मिलेगी।