69,000 शिक्षक भर्ती कटऑफ/पासिंग मार्क्स मामले सुनवाई की LIVE कोर्ट अपडेट:- पल पल की सुनवाई की अपडेट जानने के लिए इसी लिंक को करें रिफ्रेश


ADDITIONAL CAUSE LIST
(Lucknow Bench)
16/10/2019
केस विवरण:-
COURT NO.  1
HON'BLE MR.   JUSTICE PANKAJ KUMAR JAISWAL
HON'BLE MR.   JUSTICE IRSHAD ALI
For Orders
SPECIAL APPEAL
1. 156-2019- RAGHVENDRA PRATAP SINGH AND OR-S Vs. STATE OF U.P.THROU.PRIN.S-ECY.(BASIC EDUCATION) LKO.AN
👉 आज 51 डेली कॉज लिस्ट में केस लिस्टेड हैं।
👉 1 नंबर पर एडिशनल पर केस सुना जाएगा।
👉 हाईकोर्ट में टीम का प्रवेश हो चुका है |डेली कॉज लिस्ट के लगभग केस सुने जा चुके है अब रिवाइज्ड लिस्ट का दूसरा केस सुना जा रहा है | जल्दी ही एडिशनल लिस्ट में अपना केस टेकअप होने की संभावना |
👉शेष अपडेट केस शुरू होने पर ....
👉 लंच के बाद कोर्ट बैठी,
👉69000 कटऑफ केस की सुनवाई शुरू
👉माथुर सर ने बहस प्रारम्भ की केस टेकअप का समय 14:27:49 मिनट।आनंद यादव केस की शब्दावली विवरण के साथ बहस है जारी
👉 क्वालिटी एजुकेशन पर जोरदार बहस चलती हुई

👉बहस को सुनने के लिए अपने पैनल के दोनों सीनियर #अनिलतिवारी सर और #कालिया सर मौजूद हैं कोर्ट में ।📚आवश्यक बिंदु एक भी न छूटे यही प्रयास ।
👉पिछली भर्ती और इस भर्ती के सभी बिंदुओं का अंतर कोर्ट के समक्ष रख रहे हैं माथुर सर ।मुख्य रूप से शार्ट आंसर व बहुविकल्पीय विवाद, समय सीमा का पॉइंट ,और GO में स्पष्ट की गई बात की उक्त कटऑफ सिर्फ इस भर्ती यानी 68500 के लिए ही थी ।
👉तिवारी सर ने माथुर सर की बात को तर्कपूर्ण करते हुए न्यायिक बिंदु न्यायालय के समक्ष रखे कि किस तरह गुमराह करते हुए सिंगल बेंच में तथ्य छिपाए गए ।

👉ATRE Exam 2019 की पूर्ण विवेचना कर रहे हैं माथुर सर । परीक्षा का GO व कटऑफ का GO है बिंदुओं का आधार ।
👉सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा उत्तीर्ण करना रोजगार की गारंटी नहीं देता मतलब कि यह परीक्षा स्क्रीनिंग है अभी
👉जब परीक्षा का patern,टाइम 3 hours, से 2:30 minutes अलग अलग तो कट ऑफ़ कैसे एक जैसी होगी माई लोर्ड ,माथुर
👉यह न्यूनतम आहर्ता अंक 5 को फिक्स हो गया था 6 को रविवार होने कि वजह से 7 को प्रकाशित हुआ
👉पासिंग मार्क्स एग्जाम बाद 7 जनवरी को लगाने का कारण 4.10 लाख अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी और इसकी जानकारी 6 जनवरी को  सरकार को हुई !
♻श्री माथुर साहब की जोरदार बहस केस को बार बार 68500-®-69,000 शिक्षक भर्ती में अंतर पैदा करने हेतु जारी।
*♻श्री अनिल तिवारी जी-दोनों भर्ती में नियम स्पष्ट है किंतु सिंगल बेंच में उसे सही तरीके से रखा नही गया।*
*♻परीक्षा का पैटर्न पेपर का स्वरूप*
*♻परीक्षा समयावधि*
*♻अभ्यर्थी की संख्या*
*♻पेपर का स्तर*
♻🛑 परिवर्तित अभ्यर्थियों की संख्या माननीय न्यायालय के आदेश पर शामिल हो रहे अभ्यर्थियों समेत 6 जनवरी को पता चली, सब कुछ भिन्न साबित करने में अभी तक माथुर सर सफल रहे है.... बहस जारी

👉योगेश यादव आर्डर पर बहस हो रही है माथुर जी द्वारा।
90,97 के लिये महत्वपूर्ण आर्डर है।

👉जब 7 तारिख को सभी के लिए समान रूप से मार्क फिक्स किए गए तो आर्टिकल 14 की अवहेलना कैसे
👉इरशाद सर (आपका मेन मोटो बेस्ट को सेलेक्ट करना है )
माथुर सर (यस)
👉योगेश यादव जजमेंट पर बहस अच्छा जजमेंट है यह, बहस जारी
👉माथुर सर हर बिंदु को सिलसिलेवार जजसाहब को समझाते हुए और क्रॉस प्रश्नों के जवाब तर्कों कर साथ देते हुए।
👉सर्विस मैटर के टॉप मोस्ट सीनियर एडवोकेट है श्री जयदीप नारायण माथुर साहब....कट-ऑफ मुद्दे पर अब तक कोर्ट को हर बिंदु पर सहमत किया
👉बहस-®-जारी..... सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर कर रहे है बहस..
👉माथुर जी के बाद जल्द ही सीनियर अधिवक्ता श्री अनिल तिवारी रखेंगे पक्ष

👉लावण्या केस आधार पर जज को समझाते हुए: sc के अनुसार  बेसिक रूल को चेंज नहीं किया जा सकता लेकिन जरूरी प्रॉसेस अप्लाई की जा सकती हैं।
👉Basic requirements can’t be changed but rest procedures can be changed at anytime before the appointment.qualifiying ATRE and implementation of cut off marks is basic require
👉माथुर सर की बहस हुई पूरी,  सबमिशन हुआ कंप्लीट
👉अनिल तिवारी जी डाइस पर आ गए हैं। बहस स्टार्ट
👉7 जनवरी को जारी शासनादेश को आधार बनाकर बहस शुरू की
👉सिंगल बेंच के जजमेंट में सिर्फ न्यूनतम अर्हता अंक की अपील थी लेकिन आर्डर में बहुत सी चीजें।
👉मिनिमम तो शून्य है अब बताइए शून्य को कैसे मिनिमम मान लिया जाए, मिनिमम को परिसभाषित करते हुऐ।

👉मिनिमम तो 0 होता है फिर ये कैसा तर्क है कि 40 45 मिनिमम है और 60 65 मिनिमम नहीं है ।IAS PCSसे लेकर अन्य किसी परीक्षा में सीटें रिक्त रहने पर भी न्यायालय से भी कभी कटऑफ कम नहीं किया गया है याचिकाएं आज तक पेंडिंग हैं।
👉रूल नियम कानून सब कुछ इनके द्वारा माना गया सिर्फ न्यूनतम अर्हता अंक जो सरकार ने लागू किया उसमें समस्या है।
👉अगर कोई परीक्षा हुई है और रिजल्ट घोषित करना है तो कोई तो न्यूनतम अर्हता  अंक होना चाहिए।
👉इस परीक्षा के बाद जिले की वेकेंसीज आएंगी तब भर्ती प्रक्रिया शुरू होगी।
👉LKO के ऑर्डर (40-45%) के साथ, इलाहाबाद के आर्डर(0 कट ऑफ) को भी अपने तर्को से गलत साबित करते हुए तिवारी जी
👉आज की बहस खत्म। फिर मिली अगली डेट
👉 अगली तारीख 22 अक्टूबर 2019